M com karne ke fayde – Benefit Of Doing M.Com

( M com Karne Ke Fayde ) दोस्तों यदि आप भी M.com करके अपने करियर को बेहतर तरीके से उजागर करना चाहते हैं तो आपको M.com karne ke fayde के बारे में जान लेना आवश्यक है। आज हमारे दैनिक जीवन में प्रोडक्ट को खरीदने से लेकर उसका पेमेंट करने साथ ही खुद की इनकम पर जीएसटी पे करने जैसी सभी बातों को ध्यान में रखना होता है। 

 क्या आपको पता है कि इन सभी चीजों को कॉमर्स की सहायता से ही मैनेज किया जाता है इन सब चीजों को मैनेज करने के लिए बीकॉम या एमकॉम की पढ़ाई करना आवश्यक है। आज की यह पोस्ट M.com के ऊपर रहने वाली है जिसमें एमकॉम को करने के फायदे के बारे में भी बताया जाएगा। 

M.com क्या होता है – (What Is M.com)

 दोस्तों यदि एमकॉम का सीधा सा अर्थ समझे तो इसका मतलब पोस्ट ग्रेजुएशन होता है। वही बात करें इसकी फुल फॉर्म की तो वह Master Of Commerce होता है। 

 जो स्टूडेंट बीकॉम की पढ़ाई पूरी कर लेते हैं वह आगे की पढ़ाई M.com के तहत पूरी करते है। बीकॉम करने के 2 साल तक एमकॉम की पढ़ाई की जाती है। जो स्टूडेंट इससे अपनी पोस्ट ग्रेजुएशन पूरा करते हैं उन्हें एकाउंटिंग से जुड़े सभी चीजों की जानकारी अच्छे से हो जाती है। 

M.Com करने के फायदे – (Benefit Of Doing M.Com)

 वैसे तो एमकॉम करने के बाद आप गवर्नमेंट सेक्टर में जॉब के लिए अप्लाई कर सकते हैं लेकिन यदि आपका भाग्य वश गवर्नमेंट सेक्टर में नंबर नहीं पड़ता है तो प्राइवेट सेक्टर में भी इसके बहुत सारे विकल्प खुलकर सामने आते हैं। 

M com karne ke fayde
M com karne ke fayde

 एमकॉम करने के बाद एकाउंटिंग और बैंकिंग से जुड़े क्षेत्रों के बारे में कंप्लीट जानकारी मिल जाती है और यह जानकारी भविष्य में बहुत से रोजगार के विकल्प उत्पन्न करती है तो चलिए जान लेते हैं कि आखिर एमकॉम करने के बाद कौन कौन से फायदे देखने को मिलते हैं। 

(1)Local और International कंपनी में जॉब के अवसर :

 एमकॉम करने के बाद लोकल या इंटरनेशनल कंपनी में जॉब के लिए अप्लाई कर सकते हैं क्योंकि जो भी मल्टीनैशनल कंपनी होती हैं उनमें एकाउंटिंग से जुड़े काम पोस्ट ग्रेजुएशन वाले स्टूडेंट ही देखते हैं। 

 बड़ी-बड़ी कंपनियों में एमकॉम करने के बाद के बाद cashier, Accountant, या फिर HR जेसी पोस्ट के लिए अप्लाई किया जा सकता है। जितना ज्यादा आपका एक्सपीरियंस बढ़ेगा उतना ही आपका बढ़ता रहेगा। 

(2)Teacher बन सकते है :

 जब एक बार आपका पोस्ट ग्रेजुएशन पूरा हो जाता है तो आप कॉमर्स के स्टूडेंट को पढ़ा भी सकते हैं। साथ ही एमकॉम करने के बाद गवर्नमेंट सेक्टर में टीचर के लिए अप्लाई किया जा सकता है यदि गवर्नमेंट सेक्टर में सिलेक्शन नहीं होता है तो प्राइवेट में भी अच्छा खासा पैसा कमाया जा सकता है। 

 आज के समय में ऑनलाइन भी बहुत से प्लेटफार्म आ गए हैं जिन पर आप एक टीचर बनकर अच्छा खासा पैसा कमा सकते हैं जितना आपका पढ़ाने का तरीका अच्छा होगा उतने ही ज्यादा बच्चे आपके साथ जुड़ेंगे। 

(3)Bank में जॉब कर सकते है :

 जो लोग कॉमर्स से पोस्ट ग्रेजुएशन करते हैं उनके लिए बैंक में जॉब के बेहतर विकल्प मौजूद रहते हैं। पोस्ट ग्रेजुएशन किए हुए स्टूडेंट के लिए स्पेशलिस्ट ऑफिसर की वैकेंसी बैंक के द्वारा निकलती रहती है साथ ही अलग-अलग बैंक में ऑफिसर के पद पर वैकेंसी निकलती हैं जिनके लिए आप अप्लाई कर सकते हैं। 

 यदि आप चाहते हैं कि आप जॉब के साथ एमकॉम की पढ़ाई पूरा करें तो आप किसी भी बैंक में जाकर उसमें आपकी एजुकेशन लेवल के आधार पर जो भी वैकेंसी रहती हैं उनके लिए अप्लाई कर सकते हैं साथ ही एमबीए की पढ़ाई भी कर सकते हैं। 

(4)पीएचडी की पढ़ाई कर सकते है :

 यदि आप किसी भी विषय के बारे में रिसर्च करना चाहते हैं तो उसके लिए पीएचडी की डिग्री होना अनिवार्य है पीएचडी वही कर सकता है जिसके पास पोस्ट ग्रेजुएशन होता है इसलिए यदि आप एमकॉम की डिग्री हासिल कर लेते हैं तो उसके बाद पीएचडी करना आसान हो जाता है। 

(5)खुद का बिज़नेस भी स्टार्ट कर सकते है :

 जो लोग एमकॉम से पोस्ट ग्रेजुएशन करते हैं उन्हें बिजनेस फाइनेंस से रिलेटेड सभी चीजों की जानकारी हो जाती है। यह चाहे तो खुद का बिजनेस भी शुरू कर सकते हैं क्योंकि उन्हें पता रहता है कि कम समय के अंदर बिजनेस को किस तरीके से ग्रो करना है और कम पैसों में बिजनेस की मार्केटिंग किस तरह करनी है। 

(6) एमकॉम के बाद CA बन सकते है :

किसी भी कंपनी के अच्छे प्रदर्शन के पीछे CA का बड़ा रोल होता है इसे चार्टेड अकाउंटेंट कहते है आज के समय में कंपनियों में सीए की बहुत ज्यादा मांग है। यदि आप एमकॉम से पोस्ट ग्रेजुएशन करते हैं तो उसके बाद CA के इंटरमीडिएट कोर्स IPCC में डायरेक्ट एडमिशन ले सकते हैं। 

 एक कंपनी में सीए बहुत ऊंचे पद पर तैनात रहता है जिसकी मासिक सैलरी ₹200000 से ऊपर की ही होती है जितना ज्यादा एक्सपीरियंस रहता है उस आधार पर सैलरी दी जाती है। 

(7) LIC Agent बन सकते है :

 एलआईसी में भी हर वर्ष पोस्ट ग्रैजुएट लोगों के लिए वैकेंसी निकलती रहती हैं कॉमर्स के अंदर इंश्योरेंस से जुड़ी जानकारी दी जाती है इसलिए कॉमर्स के स्टूडेंट एलआईसी एजेंट बनकर अच्छा पैसा कमा सकते हैं। 

 क्योंकि एक एलआईसी एजेंट को फाइनेंस से जुड़ी सभी बातें पता होती हैं उसे यह भी जानकारी होती है कि किस तरह से एलआईसी को बेचा जाए। 

Conclusion

 तो उम्मीद करते हैं दोस्तों आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी M.com karne ke fayde अच्छे से समझ में आई होगी। यदि आप कॉमर्स बैकग्राउंड के स्टूडेंट हैं और अपनी पोस्ट ग्रेजुएशन को लेकर चिंतित है तो हम आपको बता दें कि एमकॉम आपके लिए बेहतर विकल्प रहने वाला है क्योंकि एमकॉम करने के बाद बहुत सारे करियर के ऑप्शन निकल कर सामने आते हैं। 

 यदि गवर्नमेंट सेक्टर में आपका सिलेक्शन नहीं होता है तो प्राइवेट सेक्टर में भी बहुत सारे कैरियर के ऑप्शन देखने को मिलते हैं। कॉमर्स बैकग्राउंड का स्टूडेंट कभी भी बेरोजगार नहीं रहता  है वह खुद का व्यवसाय भी शुरू कर सकता है। 

1 thought on “M com karne ke fayde – Benefit Of Doing M.Com”

Leave a Comment