Keto Diet In Hindi – कीटो डाइट क्या है?

( Keto Diet In Hindi ) दोस्तों आज के समय में भारत में शीघ्रता से वजन कम करने के लिए एक नई डाइट का इस्तेमाल किया जा रहा है जिसे Keto Diet के नाम से जाना जाता है। वहीं कुछ लोग इसे कीटोजेनिक डाइट भी कहते हैं इसके द्वारा यह दावा किया जाता है कि 10 से 15 दिन के अंदर आप अपने शरीर का फैट बड़ी तेजी से कम कर सकते है।

Keto Diet In Hindi 

आज के इस पोस्ट में हम Keto Diet In Hindi के बारे में जाने के साथ ही हम आपको यह बताएंगे कि आखिर कीटो डाइट होती क्या है? इसके क्या फायदे हैं? क्या इसके नुकसान है? तो कीटो डाइट से जुड़ी संपूर्ण जानकारी जानने के लिए आप इस पोस्ट को शुरू से लेकर अंत तक पूरा पढ़ें।

कीटो डाइट क्या है – ( Keto Diet kya h)

जो भी खाना खाते हैं वह 3 तरीके की चीजों का होता है पहला कार्बोहाइड्रेट होता है जो कि शुगर बेस होता है दूसरा प्रोटीन होता है जोकि नाइट्रोजन बेस होता है और बात करें तीसरे की तो वह फैट होता है। 

हम हमारी खाने में चावल और रोटियों का जो सेवन करते हैं वह कार्बोहाइड्रेट के तौर पर जाना जाता है वही जो भी नॉन वेजिटेरियन फूड होते हैं जैसे मछली तो यह प्रोटीन फूड होता है वही दाल, पनीर, पालक यह सभी  प्रोटीन का काम करती है। वही फैट के अंदर मुख्य रूप से घी, तेल, या फिर न्यू कह लीजिए कि जितने भी ऑइली चीज़े रहती है वह फैट का काम करती है। 

हमारा खाना 3 कंबीनेशन से तैयार होता है इसमें सबसे ज्यादा मात्रा कार्बोहाइड्रेट की पाई जाती है लगभग 60 % तक प्रोटीन और फैट की मात्रा 10 से 15 परसेंट मौजूद होती है। लेकिन कीटो डाइट इस कॉमिनेशन से बिल्कुल अलग होता है यह लो कार्बोहाइड्रेट होता है से मिलने वाली कैलोरी फैट और प्रोटीन से तैयार होती है। 

कीटो डाइट कैसे काम करती है – (how keto diet works)

जब हम अपने खाने में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा को कम कर देते हैं तो हमारे शरीर में शुगर की मात्रा कम होने लग जाती है। वहीं कम मात्रा में कार्बोहाइड्रेट का इस्तेमाल करने पर शरीर में कीटोसिस की स्थिति बन जाती है इस स्थिति में जब भोजन की मात्रा कम हो जाती है तो यह हमारे शरीर को जीवित रखने में काफी मददगार साबित होता है। 

कीटोसिस की स्थिति पैदा होने के बाद धीरे-धीरे हमारे शरीर से फैट बर्न होना शुरू हो जाता है इसलिए हम कह सकते हैं कि कीटो डाइट का इस्तेमाल इसलिए किया जाता है कि हमारे शरीर में कीटोसिस की स्थिति पैदा हो सके। 

कीटो डाइट के फायदे – (benefits of keto diet)

(1) कीटो डाइट का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसकी मदद से ब्रेन पावर को बढ़ाया जा सकता है। क्योंकि हम जानते हैं कि कीटो डाइट से कार्बोहाइड्रेट की मात्रा हमारे शरीर से कम हो जाती है जिसके चलते शुगर लेवल में भी कमी आती है इससे हमारे दिमाग एकाग्रता बढ़ती है। 

कीटो डाइट में  मुख्य रूप से फैटी एसिड पाया जाता है और अमेरिका के वैज्ञानिकों द्वारा एक रिसर्च में यह पाया गया है कि फैक्ट्री एसिड जितना ज्यादा हम सेवन करते हैं उससे हमारा दिमाग उतना ही ज्यादा सक्रिय होता है। कीटो डाइट के इस्तेमाल से हमारे शरीर में एनर्जी का संचार दिनभर रहता है और जब तक हम एनर्जेटिक नहीं रहेंगे तो हमारा दिमाग सही तरीके से काम नहीं कर पाता है। 

(2) कीटो डाइट का दूसरा सबसे बड़ा फायदा यह है कि यह वजन कम करने में काफी मददगार साबित होता है कीटो डाइट का यह फायदा रहता है कि हमारी बॉडी में जो भी फैट रहता है उसको एनर्जी के रूप में कन्वर्ट कर देता है। जिस वजह से हमारे शरीर में मौजूद इंसुलिन की मात्रा काफी हद तक कम हो जाती है। 

वही कीटो डाइट का फायदा भी होता है कि इससे डायबिटीज का खतरा काफी हद तक टल जाता है क्योंकि कीटो डाइट में जो फ्रूट्स इस्तेमाल किए जाते हैं उनसे ब्लड शुगर का लेवल मैनेज हो जाता है। 

(3) कीटो डाइट से त्वचा में काफी हद तक सुधार देखने को मिलता है यह स्किन को अंदर से glow करता है। जिन लोगों को स्किन से जुड़ी समस्या रहती है उन्हें कीटो डाइट का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए इससे चेहरे पर फुंसी और मुहांसों से भी काफी हद तक फायदा मिलता है। 

कीटो डाइट से कार्बोहाइड्रेट की मात्रा कम होती है जिससे त्वचा के अंदर घाव या फिर किसी भी तरीके की फुंसियां मुंहासे होते हैं उनके सेल्स नष्ट हो जाते हैं वही ज्यादा कार्बोहाइड्रेट का सेवन करने से स्किन पर पिंपल्स जैसी समस्या देखने को मिलती है। 

कीटो डाइट के नुकसान – (disadvantages of keto diet)

(1) कीटो डाइट का सबसे बड़ा नुकसान यह है कि इसमें हमें कम पानी पीना होता है कम पानी पीने से कब्ज की समस्या बहुत ज्यादा देखने को मिलती हैं। इसलिए कब्ज की समस्या से राहत पाना चाहते हैं तो दिन में अधिक से अधिक पानी का सेवन अवश्य करें। 

(2) अक्सर देखा गया है कि जो लोग कीटो डाइट का इस्तेमाल करते हैं उनमें घबराहट और दिल के धड़कन के बढ़ने की समस्या ज्यादातर देखी गई है। यदि आपके साथ भी ऐसा हुआ है तो आपको घबराने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि यह कीटो डाइट के नॉर्मल लक्षण है जो प्रत्येक व्यक्ति के साथ होते हैं। 

इसके बचाव के लिए आपको अधिक से अधिक पानी का सेवन करना है और नमक का सेवन करेंगे तो इससे आपको जल्दी छुटकारा मिल जाएगा। 

(3) कीटो डाइट प्लान में शरीर की शारीरिक क्षमता कम होने लगती है क्योंकि जो फैट रहता है वह एनर्जी के रूप में काम करने लगता है जिससे हमें थोड़ी कमजोरी सी महसूस हो सकती है। 

Conclusion 

Keto Diet In hindi से जुड़ी जानकारी आपको बेहद ही पसंद आई होगी इसमें हमने आपको कीटो डाइट से जुड़े फायदे और नुकसान के बारे में बताया है। यदि आप कीटो डाइट प्लान इस्तेमाल करते हैं तो कुछ लक्षण स्वाभाविक रूप से सभी लोगों के साथ देखने को मिलते हैं तो आपको उस स्थिति में घबराने की आवश्यकता नहीं है।

Leave a Comment