आयापान (Eupatoriurn Ayapan) क्या होता है? आयापान के आयुर्वेदिक गुण के बारे में संपूर्ण जानकारी

नमस्ते दोस्तों स्वागत है आपका हमारी वेबसाइट पर आज के इस लेख में हम आपको आयापान (Eupatoriurn Ayapan) क्या होता है? आयापान (Eupatoriurn Ayapan) के बारे में संपूर्ण जानकारी देंगे और आयापान (Eupatoriurn Ayapan) को खाने के क्या-क्या फायदा है और इस के आयुर्वेदिक गुण भी आपको बहुत ही सरल भाषा में बताएंगे यदि आप आयापान (Eupatoriurn Ayapan) बारे में विस्तार से जानना चाहते हैं तो आज का यह लेख पूरा पढ़ें

आयापान (Eupatoriurn Ayapan) क्या होता है?

 प्रचलित नाम-आयापान ।

आयापान (Eupatoriurn Ayapan) (1)
आयापान (Eupatoriurn Ayapan)

उपलब्ध स्थान- यह बंगाल की एक प्रसिद्ध वनस्पति है। इसके पेड़ मंझोले कद के होते हैं।

परिचय- इसके पौधे बंगाल के बाग-बगीचों में चारों ओर लगाए जाते हैं। इसके पत्ते बड़े होते हैं और पत्तों के डंठल तथा उनकी नसें लाल रंग की होती हैं। बगीचों के अतिरिक्त बंगाल के वनों में भी यह वनस्पति उत्पन्न होती है।

आयापान के आयुर्वेदिक गुण के बारे में संपूर्ण जानकारी

 ऐसा माना जाता है कि जिस समय लक्ष्मण को मेघनाथ की ब्रह्मशक्ति लगी थी और वे मूर्च्छित हो गये थे, तब हनुमान गन्धमादन पहाड़ के ऊपर से इस औषधि को लाये थे और इसके माध्यम से सुषेण ने उन्हें जीवित किया था। इस कथन में सत्य का कितना अंश है, यह तो नहीं बताया जा सकता, परन्तु अपने घायपूरक और रक्तस्राव रोधक महान गुण के लिये यह एक अमोय औषधि है। रक्तातिसार, रक्तप्रदर, खूनी बवासीर इत्यादि शरीर के किसी भी हिस्से से गिरने वाले खून के लिए इसके पत्तों का रस पीने से अधिक लाभ होता है।

 जख्म होने से थोड़ा या अधिक किसी भी रूप में खून बहता हो, पट्टी बांधने से भी रक्त का रुकना बन्द न होता हो तो इसके पत्तों को पीसकर लेप की पट्टी बांधने से रक्त बहना बन्द होता है व पाव जल्दी भरता है।

 जिस मनुष्य को शस्त्र का गहरा जख्म लगा हो, उसको आयापान के पत्तों का रस पिला देने से और रस को जख्म पर लगाने से, रक्त का बहना बन्द हो जाता है। इसी तरह रस पीने से आमाशय से गिरने वाला रक्त भी बन्द हो जाता है। आयापान के पत्तों को पत्थर पर पीसकर, पिसे हुए पत्तों को हथेलियों के मध्य दबाकर रस निकालना पड़ता है।

 इस औषधि के बारे में यह भी कहा जाता है कि यह एक उत्तेजक औषधि है। कम मात्रा में पौष्टिक और ज्यादा मात्रा में विरेचक है। इसका गरम काढा वमनकारक और ज्वर-निवारक है। इसे मलेरिया में भी दिया जाता है।

अंतिम शब्द- 

दोस्तों आज की थी लेकिन हमने आपको आयापान (Eupatoriurn Ayapan) क्या है? औरत आयापान (Eupatoriurn Ayapan)  खाने के क्या-क्या फायदे हैं? और आयापान (Eupatoriurn Ayapan) आयुर्वेदिक उनके बारे मे संपूर्ण जानकारी दी है, उम्मीद करते हैं कि आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आई होगी। यदि आयापान (Eupatoriurn Ayapan) संबंधित आपका कोई भी सवालिया सुझाव है, तो नीचे कमेंट करके हमसे अवश्य पूछे हम आपका जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे। और यदि यह जानकारी आपको पसंद आई है, तो इसे अपने दोस्तों में अपने परिवार के सदस्यों के साथ अवश्य शेयर करें। आज का यह लेख पूरा पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद आपका दिन मंगलमय हो।

1 thought on “आयापान (Eupatoriurn Ayapan) क्या होता है? आयापान के आयुर्वेदिक गुण के बारे में संपूर्ण जानकारी”

Leave a Comment